BIG DECISION | राजस्थान में 11वीं और 12वीं कक्षा से पीएचडी करने वाली छात्राओं को 15000 रुपये की प्रोत्साहन राशि देने का बडा फैसला

Big Decision Rajsthan Govt | राजस्थान में छात्राओं को 15000 रुपये की प्रोत्साहन राशि देने का बड़ा फैसला लिया गया है, कृषि विषय में 11वीं और 12वीं कक्षा से पीएचडी करने वालों को 15000 रुपये मिलेंगे, कृषि इंजीनियरिंग करने के लिए 12000 रुपये मिलेंगे, प्रोत्साहन राशि पाने के लिए जरूरी दस्तावेज

राजस्थान राज्य हमारे देश का एक मात्र ऐसा राज्य है जिसके द्वारा अपने राज्य में उपस्थित बालिकाओं के लिए विभिन्न प्रकार की योजनाओं की शुरुआत की गई है। राजस्थान सरकार का मानना ​​है कि राज्य की छात्राओं को शिक्षा के क्षेत्र में प्रोत्साहित करना बेहद जरूरी है।

क्योंकि एक बच्ची अपने साथ जुड़े कम से कम 10 लोगों को शिक्षित करती है। राजस्थान सरकार ने एक बार फिर राजस्थान राज्य की छात्राओं को शिक्षा के क्षेत्र में प्रोत्साहित करने के लिए एक नई योजना शुरू की है। इसके माध्यम से राजस्थान राज्य की लड़कियों को 15,000 रुपये तक की प्रोत्साहन राशि दी जाएगी।

11वीं और 12वीं कक्षा की छात्राओं को पीएचडी को प्रोत्साहन राशि दी जाएगी

  • राजस्थान सरकार द्वारा राज्य की छात्राओं के लिए यह निर्णय लिया गया है कि कृषि विभाग द्वारा कृषि में पढ़ने वाली छात्राओं को प्रोत्साहन राशि दी जाएगी. 10वीं और 12वीं कक्षा में पढ़ने वाली छात्राओं को करीब 5,000 रुपये की राशि दी जाएगी।
  • इसके अलावा कृषि इंजीनियरिंग, खाद्य प्रसंस्करण, डेयरी और बागवानी आदि में 4 वर्षीय पाठ्यक्रम और कृषि स्नातकोत्तर में 2 वर्षीय पाठ्यक्रम करने वाली छात्राओं को प्रत्येक वर्ष 12,000 रुपये की प्रोत्साहन राशि प्रदान की जाएगी। इससे वह अपनी पढ़ाई से जुड़े सभी खर्चों को आसानी से पूरा कर सकेगी।
  • राजस्थान राज्य का कोई भी छात्रा कृषि विषय से 3 वर्षीय पीएचडी करना चाहती है तो उसे हर साल 15,000 रुपये की प्रोत्साहन राशि प्रदान की जाएगी। इसके माध्यम से राजस्थान राज्य की लड़कियां शिक्षा के क्षेत्र में आगे बढ़ सकेंगी और उनसे जुड़े अन्य लोगों को शिक्षित कर सकेंगी।
Also Read :  राजस्थान तारबंदी योजना : किसान 50 प्रतिशत सब्सिडी पर खेतों में लगवाएं कंटीले तार की बाड़, जानिए आवेदन की पूरी प्रक्रिया

बीच में ड्रॉप आउट करने वाली लड़कियों को नहीं मिलेगी प्रोत्साहन राशि

कृषि में अध्ययनरत छात्राओं को दी जाने वाली प्रोत्साहन राशि के संबंध में यह भी कहा गया है कि स्कूल, कॉलेज या विश्वविद्यालय को बीच में छोड़ने वाली लड़कियों को प्रोत्साहन राशि नहीं दी जाएगी. क्योंकि यह प्रोत्साहन राशि उन्हीं छात्राओं को दी जाएगी जो कृषि में अपनी पढ़ाई पूरी करेंगी।

कृषि विभाग प्रोत्साहन राशि के लिए पात्रता

  • जो छात्राएं कृषि विषय में पढ़ रही हैं, तो वे राजस्थान राज्य की मूल निवासी होनी चाहिए, तभी उन्हें प्रोत्साहन राशि मिलेगी। क्योंकि यह प्रोत्साहन राशि केवल राजस्थान राज्य की छात्राओं के लिए है।
  • केवल उन्हीं छात्राओं को प्रोत्साहन राशि दी जाएगी जो सरकार और राज्य सरकार द्वारा मान्यता प्राप्त स्कूलों, कॉलेजों और विश्वविद्यालयों में नियमित रूप से पढ़ रही हैं।
  • राजस्थान राज्य की जो छात्राएं पिछली कक्षा में अनुत्तीर्ण हुई हैं और उसी कक्षा में दोबारा प्रवेश लिया है, तो ऐसी छात्राओं को भी प्रोत्साहन राशि नहीं दी जाएगी. क्योंकि प्रोत्साहन राशि पाने के लिए छात्राओं का पढ़ाई में भी अच्छा होना जरूरी है।

प्रोत्साहन राशि प्राप्त करने के लिए आवश्यक दस्तावेज

राजस्थान राज्य की सभी लड़कियां जो कृषि में पढ़कर प्रोत्साहन राशि प्राप्त करना चाहती हैं, तो उनके पास कुछ महत्वपूर्ण दस्तावेज होने चाहिए जैसे

  • पिछली कक्षा की अंक तालिका
  •  राजस्थान राज्य आधार कार्ड का अधिवास प्रमाण पत्र
  • बैंक खाता विवरण
  • आप जहां पढ़ रहे हैं उस स्थान के मुखिया का ई-साइन सर्टिफिकेट

प्रोत्साहन राशि के लिए आवेदन कैसे करें

राजस्थान राज्य की कोई भी छात्रा जो प्रोत्साहन राशि के लिए आवेदन करना चाहती है, वह ई-मित्र के माध्यम से आसानी से ऑनलाइन आवेदन कर सकती है। इसके लिए आपको हमारे द्वारा बताए गए सभी दस्तावेज ई-मित्र पर लेने होंगे।

Leave a Comment