PM SHRI Yojana से जुड़ेंगे देश के 14 हजार से ज्यादा स्कूल, ऐसे बदलेगा पढ़ाने-पढ़ाने का तरीका

PM SHRI Yojana : देश के भविष्य यानी स्कूली बच्चों की नींव को पहले से ज्यादा मजबूत बनाने की दिशा में केंद्र सरकार ने एक बेहतर कदम उठाया है। सरकार ने राष्ट्रीय शिक्षा नीति 2020 (National Education Policy 2020) में बड़ा बदलाव किया है।

जिसके तहत देशभर के करीब 14 हजार 500 स्कूलों को पीएम श्री योजना यानी (प्राइम मिनिस्टर स्कूल फॉर राइजिंग इंडिया/Prime Minister’s School for Rising India) के तहत अपग्रेड किया जाएगा। आइए जानते हैं क्या है पीएम श्री स्कूल योजना।

पीएम श्री स्कूल योजना क्या है?

प्रधान मंत्री स्कूल फॉर राइजिंग इंडिया (PM-SHRI) केंद्र सरकार की एक योजना है जिसमें देश के मौजूदा स्कूलों को मॉडल स्कूल के रूप में विकसित किया जाएगा।

इस योजना से देश के करीब 14 हजार 500 स्कूलों को जोड़ा जाएगा। पहले चरण में यह योजना 5 साल (2022-2027) के लिए लागू की जाएगी। योजना का कुल अनुमानित बजट 27 हजार 360 करोड़ रुपये है।

Indira Gandhi Shehri Yojana | इंदिरा गांधी शहरी क्रेडिट कार्ड योजना, ऑनलाइन आवेदन करें

इस बजट में केंद्र सरकार की हिस्सेदारी 18 हजार 128 करोड़ रुपये होगी। वहीं, 18 लाख से ज्यादा छात्रों को इससे फायदा होगा। सरकारी स्कूलों को योजना में शामिल किया जाएगा। राज्यों के साथ मिलकर सभी का चयन किया जाएगा।

इंफ्रास्ट्रक्चर में बदलाव 

पीएम श्री योजना श्री योजना यानी (प्राइम मिनिस्टर स्कूल फॉर राइजिंग इंडिया/Prime Minister’s School for Rising India) के तहत सरकारी स्कूलों में बुनियादी ढांचे को बदला जाएगा। स्कूलों को पूरी तरह आधुनिक बनाया जाएगा।

भवन को अपग्रेड किया जाएगा, क्लासरूम स्मार्ट होंगे, कंप्यूटर लैब से लेबोरेटरी, लाइब्रेरी को टेक फ्रेंडली बनाया जाएगा।

एनईपी (National Education Policy 2020) के तहत प्ले स्कूल तैयार किए जाएंगे। इन स्कूलों में कक्षा तीन से 12 तक पढ़ाई होगी।

पढ़ाने का तरीका बदलेगा

पीएम श्री योजना के तहत स्कूल के साथ पढ़ने-पढ़ाने के तरीकों में बदलाव किया जाएगा. प्रायोगिक, परिवर्तनकारी और समग्र यानी सर्वांगीण विकास/एकीकृत पद्धति पर जोर होगा।

सरल शब्दों में कहा जाए तो स्कूलों में बच्चों को इस तरह पढ़ाया जाएगा कि उनमें नई-नई चीजें सीखने को मिले और शोध करने की क्षमता का विकास हो।

स्कूलों में डिस्कवरी ओरिएंटेड और लर्निंग सेंट्रिक टीचिंग मेथड लागू किया जाएगा। प्ले और टॉय बेस्ड टीचिंग में लर्निंग (Play and Toy Based Teaching) होगी। ताकि बच्चों को याद करने के लिए रटना न पड़े।

क्या खास होगा इन स्कूलों में

> पीएम-श्री स्कूलों में शिक्षा प्रदान करने का एक आधुनिक, परिवर्तन लाने वाला और समग्र तरीका होगा

> इनमें खोज उन्मुख और सीखने को केंद्र में रखकर शिक्षा प्रदान करने के तरीके पर जोर रहेगा

> इसके केंद्र में अत्याधुनिक प्रौद्योगिकी, स्मार्ट कक्षाएं, खेल समेत आधुनिक बुनियादी सुविधाओं पर भी ध्यान दिया जाएगा

> अत्याधुनिक लैब स्थापित की जाएंगी. ताकि स्टूडेंट्स किताबी ज्ञान के अलावा प्रैक्टिल से सीख सकेंगे

> प्री-प्राइमरी और प्राइमरी के बच्चों में खेल पर फोकस किया जाएगा. ताकि उनमें शारीरिक विकास भी हो सके

PM SHRI स्कूल कहां खोला जाएगा

जानकारी के मुताबिक प्रधानमंत्री मोदी के निर्देश पर देश के हर ब्लॉक में कम से कम एक पीएम श्री स्कूल की स्थापना की जाएगी।

जिससे आम लोगों के बच्चों को भी अच्छी शिक्षा का मौका मिल सके और उन्हें पढ़ाई के लिए दूर न जाना पड़े। इस योजना के तहत देश के प्रत्येक जिले में एक-एक माध्यमिक और वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय को भी जोड़ा जाएगा।

Read More

Leave a Comment