Sukanya Samriddhi Yojana : सुकन्या समृद्धि योजना में बड़ा बदलाव, निवेश करने से पहले जान लें

Sukanya Samriddhi Yojana : अगर आप भी एक बेटी के पिता हैं और चाहते हैं कि आपकी बेटी का भविष्य आर्थिक रूप से समृद्ध हो और उसे कभी किसी आर्थिक समस्या का सामना न करना पड़े, तो आप भी इस शानदार सरकारी निवेश को शुरू कर सकते हैं।

इस खास योजना में निवेश करने से आपकी बेटी 21 साल में ही करोड़पति बन जाएगी। आपको बस इतना करना है कि इस योजना में प्रतिदिन 416 रुपये का निवेश करना है।

आपकी बेटी के लिए यह 416 रुपये बाद में आपकी बेटी के लिए 65 लाख रुपये की मोटी रकम बन जाएगी। इससे आपकी बेटी की पढ़ाई का खर्च भी आसानी से निकल जाएगा।

सुकन्या समृद्धि योजना क्या है?

सुकन्या समृद्धि योजना एक ऐसी दीर्घकालिक योजना है, जिसमें निवेश करके आप अपनी बेटी की शिक्षा और भविष्य के बारे में सुनिश्चित हो सकते हैं।

इसके लिए आपको ज्यादा बड़ी रकम निवेश करने की भी जरूरत नहीं है। इस प्लान में कई बड़े बदलाव हो रहे हैं। नए नियमों के तहत खाते में गलत ब्याज वापस करने का प्रावधान हटा दिया गया है।

इसके अलावा, खाते का वार्षिक ब्याज प्रत्येक वित्तीय वर्ष के अंत में जमा किया जाएगा। पहले नियम था कि बेटी 10 साल बाद ही खाते का संचालन कर सकती है।

लेकिन नए नियमों के तहत बेटी को 18 साल की उम्र से पहले खाते को संचालित करने की अनुमति नहीं होगी। इससे पहले, केवल माता-पिता ही खाते का संचालन जारी रखेंगे।

Also Read :  Sukanya Samriddhi Account Latest Update : सुकन्या समृद्धि योजना की ब्याज दर में बदलाव, देखें नया अपडेट

अब ‘तीसरी’ बेटी का भी खाता खुल सकता है

पहले इस योजना में 80सी के तहत टैक्स छूट का लाभ केवल दो बेटियों के खाते पर ही मिलता था। तीसरी बेटी को यह लाभ नहीं मिल रहा था। नए नियम के तहत अगर एक बेटी के बाद दो जुड़वां बेटियां पैदा होती हैं तो दोनों का खाता खोलने का प्रावधान है।

डिफ़ॉल्ट खाते पर ब्याज दर नहीं बदलेगी

इसके तहत खाते में सालाना कम से कम 250 रुपये जमा करना जरूरी है। यह राशि जमा नहीं होने की स्थिति में खाते को डिफॉल्ट माना जाता है।

लेकिन नए नियमों के तहत अगर खाता दोबारा सक्रिय नहीं होता है तो मैच्योरिटी तक खाते में जमा राशि पर लागू दर पर ब्याज मिलता रहेगा, पहले डिफॉल्ट खातों में डाकघर बचत खाते पर लागू दर पर ब्याज मिलता था।

निर्धारित समय से पहले बंद किया जा सकता है खाता

सुकन्या समृद्धि योजना के तहत खोले गए खाते को पहली दो स्थितियों में बंद किया जा सकता है।

1. अगर बेटी की मौत हो जाती है।

2. अगर बेटी के घर का पता बदल दिया जाता है।

3. लेकिन नए बदलाव के बाद खाताधारक की जानलेवा बीमारी को भी इसमें शामिल कर लिया गया है।

4. अभिभावक की मृत्यु की स्थिति में भी खाता समय से पहले बंद किया जा सकता है।

Leave a Comment